Bhulekh 2022 – भूलेख – नक्शा, मैप, खतौनी, भुनक्षा, लैंड रिकॉर्ड की संपूर्ण जानकारी

चलिए आज आपको बताते हैं भूलेख क्या है (Bhulekh) भूलेख से आपको क्या फायदा हो सकता है। जब भी आप भोले के बारे में सुनते हैं तो आपके मन में यह सवाल जरूर आता होगा कि आखिरकार यह भूलेख है क्या। तो आज हम आपको यह बताने वाले हैं। और भी बहुत महत्वपूर्ण जानकारी हम आपको देंगे भूलेख के बारे में भूलेख की आवश्यकता क्यों पड़ी,  खसरा, लैंड रिकॉर्ड्स, खेत खलियान, इन सब चीजों के बारे में आज हम बातें करेंगे।

चलिए शुरुआत करते हैं – भूलेख क्या है  (यूपी भूलेख खतौनी 2022)

भूलेख क्या है – Bhulekh

जैसे कि आप देख पा रहे हैं भूलेख – भूलेख ऐसा शब्द है जो दो शब्दों से मिलकर बना है। पहला शब्द है भू और दूसरा शब्द है लेख। तू जैसे कि आप देख पा रहे हो यह तो सब से बना है जिसमें पहला शब्द है भू और जैसे हम सब जानते हैं भू का मतलब जमीन से होता है भूमि से होता है। और रही बात लेख की लेख का मतलब होता है लिखित। तो भूलेख से हम समझते हैं के यहां भूमि की लिखित कागजी सरकारी दस्तावेज के बारे में बात होगी।

अगर आप जमीन के मालिक हैं तुम मालिकाना हक यानी जमीन किसके नाम है और कितनी जमीन है इसके लिए आपको दस्तावेज मिलते हैं क्योंकि सरकार द्वारा बनाए जाते हैं इन सब दस्तावेजों को हम भूलेख बोल सकते हैं।

भूलेख एक ऐसी प्रक्रिया है जो हर सरकार द्वारा चलाई जाती है अगर आप भारत में किसी भी राज्य के निवासी हैं तो भूलेख आपके लिए जरूरी हो सकती है।

हर एक राज्य द्वारा भूलेख की जानकारी ऑनलाइन माध्यम से दी जा रही है अगर आप कोई भी दस्तावेज बनवाना चाहते हैं या फिर अपने जमीन के कागजात के बारे में जानना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन डिजिटल माध्यम के द्वारा यह सब देख पाएंगे उसके लिए आपको भूलेख की ऑनलाइन वेबसाइट पर जाना होगा जो सरकार द्वारा चलाई जाती है। अगर हम बात करें उत्तर प्रदेश राज्य की तो उत्तर प्रदेश राज्य की भी एक भूलेख वेबसाइट है अगर आपको इस वेबसाइट पर जाना है तो यहां क्लिक करें।

भूलेख के जरिए आप अनेक काम कर सकते हैं जिसमें से कुछ काम हमने नीचे सूचियों में दिए हैं:-

  • लैंड रिकॉर्ड
  • भूलेख
  • खसरा खतौनी
  • भूमि का विवरण
  • भु नक्षा
  • भूमि अभिलेख
  • जमीन का नक्शा
  • मीभूमि
  • सर्वे एंड लैंड रिकॉर्ड्स
  • लैंड मैप
  • लुच्चा पट्टा
  • जमीन के कागजात

यह सब सुविधाओं को आपको लेख के जरिए देख सकते हैं।

प्रत्येक राज्य की सरकार द्वारा राजस्व विभाग ने भूलेख से संबंधित सभी सेवाओं के लिए हर एक तहसील में अधिकारी कर्मचारी नियुक्त किए गए हैं। अगर आपको किसी भी तरीके का जमीन से जुड़ा हुआ कागजात बनवाना है या कोई सुधार करवाना है तो आप इन कार्यालय में जाकर यह सब काम करवा सकते हैं और इनके लिए आवेदन कर सकते हैं। आप चाहे तो ऑनलाइन माध्यम के जरिए भी यह सब काम करवा सकते हैं उसके लिए आपको किसी भी कार्यालय के चक्कर काटने नहीं पड़ेंगे ना ही किसी को कुछ पैसे भी देने की आवश्यकता होगी।

जमीन से जुड़े हुए अनेक काम आप ऑनलाइन माध्यम से कर सकते हैं हमारी वेबसाइट पर यह सारे कामों के विवरण के बारे में अच्छे से विस्तारपूर्वक समझाया गया है अगर आप हमारी वेबसाइट को ध्यानपूर्वक पढ़ेंगे तो आपको भूलेख के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल पाएगी।

Bhulekh भूलेख ऑनलाइन चेक और डाउनलोड कैसे कर सकते हैं

अगर हम बात करें भूलेख की जानकारी ऑनलाइन माध्यम से तो यह करना बेहद आसान हो चुका है हर एक राज्य की सरकार द्वारा भूलेख की ऑनलाइन वेबसाइट चलाई जा रही है इस ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए आप किसी भी राज्य में घर बैठे बैठे भूलेख से संबंधित किसी भी तरह के दस्तावेज को ऑनलाइन माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं वह देख सकते हैं।

भूलेख ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए आप खसरा खतौनी, जमाबंदी, भू नक्शा, म्यूटेशन स्टेटस इत्यादि चेक या फिर डाउनलोड कर सकते हैं।

नीचे हमने राज्यों के अनुसार भूलेख वेबसाइट का विवरण दिया है कृपया जाकर चेक कर सकते हैं।

Bhulekh राज्य भू नक्शा जमीन खेत का नक्शा भूलेख खसरा खतौनी
Andhra Pradesh (आंध्र प्रदेश) Bhunaksha AP Andhra Pradesh Map Meebhoomi AP Adangal 1b FMB
Assam (असम) Bhu Naksha Assam Land Map Bhulekh Assam Dharitree Search Jamabandi
Arunachal Pradesh (अरुणाचल प्रदेश)
Bihar (बिहार) भू नक्शा बिहार बिहार भूलेख जमाबंदी
Chhattisgarh (छत्तीसगढ़) भू नक्शा छत्तीसगढ़ CG Bhuiya B1 Khasra Khatoni Online
Delhi (दिल्ली) Bhu Naksha Delhi Online Land Map Bhulekh Delhi Khasra Khatauni Online
Gujarat (गुजरात) Bhu Naksha Gujarat Map Bhulekh Gujarat 7/12 Records
Goa (गोवा) Goa Bhulekh Land Records
Haryana (हरियाणा) Bhu Naksha Haryana Land Map Bhulekh Haryana Jamabandi Nakal
Himachal Pradesh (हिमाचल प्रदेश) Bhu Naksha Himachal Pradesh Bhulekh Himachal Pradesh जमाबंदी/शजरा नस्ब
Jharkhand (झारखंड) Bhu Naksha Jharkhand Online Map Bhulekh Jharkhand Jharbhoomi Apna Khata
Kerla (केरल) Bhu Naksha Kerala Erekha Survey And Land Records
Karnataka (कर्नाटक) Bhu Naksha Bhoomi Revenue Maps Karnataka Karnataka Land Records Bhoomi RTC
Maharashtra (महाराष्ट्र) Bhu Naksha Maharashtra Land Map Bhulekh Maharashtra 7/12 Record Check
Madhya Pradesh (मध्य प्रदेश) भू नक्शा मध्य प्रदेश MP Land Record Bhulekh Khasra Khatauni
Manipur (मणिपुर) Bhulekh Manipur Loucha Patta Loucha Pathap Bhulekh Manipur Jamabandi
Meghalaya (मेघालय)
Mizoram (मिजोरम)
Nagaland (नागालैंड)
Odisha (उड़ीसा) Bhu Naksha Odisha Land Map Bhulekh Odisha Khatiyan Online
Punjab (पंजाब) Bhu Naksha Punjab Map Fard Punjab Bhulekh Jamabandi
Rajasthan (राजस्थान) Bhu Naksha Rajasthan Land Map Bhulekh Rajasthan Apna Khata Jamabandi Nakal
Sikkim (सिक्किम)
Tamil Nadu (तमिल नाडू) Bhu Naksha Tamil Nadu Tamil Nadu Land Records
Telangana (तेलंगाना) Bhu Naksha Telangana Cadastral Map Telangana Land Records Maa Bhoomi 1b Pahani
Tripura (त्रिपुरा) ejami Tripura Bhu Naksha Jami Tripura Land Record Khatian
Uttar Pradesh (उत्तर प्रदेश) भू नक्शा उत्तर प्रदेश यू पी भूलेख खतौनी
Uttrakhand (उत्तराखंड) Bhu Naksha Uttarakhand (UK) Map Bhulekh Uttarakhand (UK)
West Bengal (पश्चिम बंगाल) Bangla Bhumi Map Land Bhu Naksha Land Records West Bengal

Bhulekh – भूलेख क्यों आवश्यक है

चलिए आज आपको बताते हैं कि भूलेख की आवश्यकता क्यों है और इससे क्या फायदा हो सकता है। भूलेख से जैसे हम जान पा रहे हैं कि वह मतलब जमीन भूमि और लेख मतलब कागज या दस्तावेज।

भूलेख को हम भूअभिलेख भी कह सकते हैं जिसमें हम जानते हैं कि जमीन का विवरण होता है, मालिकाना हक जैसी जरूरी जानकारी होती है। भूलेख का उपयोग हम अनेक जगह पर कर सकते हैं जैसे कि सरकारी योजनाओं का लाभ उठाना हो, बैंक लोन लेना हो या फिर फसल बीमा प्राप्त करना।

जैसे कि अभी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और किसानों के लिए क्रेडिट कार्ड जैसी योजनाओं का शुभारंभ किया गया था इस योजना का लाभ लेने के लिए भूलेख की आवश्यकता पड़ी जिसमें भू रिकॉर्ड की कॉपी लगानी थी। तो इसलिए भूलेख के जरिए हमें यह सब दस्तावेज मिल पाते हैं और हम इन योजनाओं का लाभ उठा पाते हैं।

अगर हम बात करें बंटवारे की तो भूलेख उसमें भी बहुत उपयोगी साबित होता है। भूले के जरिए सही-सही हिस्से और बराबर बराबर हिस्से को बांटा जा सकता है इसमें बहुत सहूलियत हो जाती है।

भूलेख अप ऑनलाइन भी उपलब्ध है आप चाहे तो किसी भी तरह का दस्तावेज ऑनलाइन माध्यम से बनवा सकते हैं इसके लिए आपको किसी भी कार्यालय व्यक्त पटवारियों के चक्कर काटने नहीं पड़ेंगे।

दस्तावेज जैसे खसरा खतौनी, लैंड रिकॉर्ड्स इन सब दस्तावेजों को आप ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

राज्यों के मुताबिक भूलेख से जुड़ी कुछ जरूरी वेबसाइट की सूची: Bhulekh

1. राजस्थान
2. आंध्र प्रदेश
3. उत्तर प्रदेश
4. उत्तराखंड
5. बिहार
6. छत्तीसगढ़
7. गोवा
8. गुजरात
9. हरियाणा
10. हिमाचल प्रदेश
11. झारखंड
12. कर्नाटक
13. केरल
14. मध्य प्रदेश
15. महाराष्ट्र
16. उड़ीसा
17. पंजाब
18. तमिल नाडु
19. तेलगाना
20. त्रिपुरा
21. पश्चिम बंगाल

खसरा क्या होता है – Bhulekh

खसरा एक तरह का भूमि दस्तावेज होता है जिसका उपयोग भारत में किसी भी कृषि भूमि और फसल की जानकारी के लिए किया जाता है।

इसका उपयोग सजना नामक दस्तावेज में होता है जिसको हम सजरा किश्तवार भी कहते हैं। जो कि गांव का निर्धारित मैप होता है जो कि उस गांव के जगह के क्षेत्रफल और वहां की भौगोलिक परिस्थितियों को निर्धारित करने में मदद करता है।

खसरा मुख्य रूप से देखा जाए तो “ सभी क्षेत्र और उनका एरिया, उसका ऑनर्स मतलब मालिक, नाथ और किस किसान द्वारा वहां खेती की जाती है, किस प्रकार की फसल उगाई जा रही है, किस तरह की मिट्टी होती है, कौन से पेड़ क्षेत्र में लगे हुए हैं, वहां की स्थिति और क्षेत्रफल से लेकर वहां के वातावरण आदि की सारी जानकारी खसरा में उपलब्ध होती है।

खसरा दस्तावेज भारत में काफी समय से मौजूद है और बात कहे तो ब्रिटिश शासन काल में भी खसरा का दस्तावेज काम में आता था। अगर बात कहे तो भारत का आर्थिक इतिहास जानने के लिए खसरा आदि जैसे दस्तावेजों का उपयोग किया जाता है।

खाता या खेवट नंबर क्या होता है

चलिए अब आपको बताते हैं खेवट नंबर क्या होता है खेवट नंबर को हम “ खाता नंबर” के रूप में भी जानते हैं। इसको हम किसी भी जमीनी संपत्ति के मालिक को प्रदान किए गए अकाउंट नंबर के रूप में भी जानते हैं। और इसको हम किसी भी संपत्ति के सह मालिक के साथ हुए जमीन के भाग के अलग-अलग हिस्सों को भी निर्धारित करते हैं।

इसका उपयोग संपत्ति की जानकारी के लिए और उस क्षेत्र के मैप में उस जगह को दिखाने के लिए उपयोग में लिया जाता है।

खाता नंबर किसी भी जमीनी संपत्ति क्षेत्र को दस्तावेजों पर निर्धारित करने के लिए प्रदान की गई एक संख्या के रूप में देखा जा सकता है।

खतौनी क्या होता है – Bhulekh

खतौनी एक प्रकार का भूमि अभिलेख है जिसे हम कानूनी दस्तावेज भी मान सकते हैं। खतौनी में किसी भी जमीन का विवरण होता है और इसको आप पटवारी या का काश्तकार के द्वारा बनवा सकते हैं। Bhulekh

खतौनी में किसी भी जमीन का विवरण. उसका क्षेत्रफल और अलग-अलग खाते वाली वही होती है। खतौनी एक बहुत उपयोगी दस्तावेज है जिसके द्वारा किसी भी क्षेत्र की स्थिति और उसका पूरा विवरण पटवारी या काश्तकार से प्राप्त किया जा सकता है।

खतौनी में भूमि का अभिलेख. नक्शा किश्तबंदी आदि का समावेश होता है।

खतौनी का उपयोग कई तरह से हम कर सकते हैं जैसे कि आपको किसी व्यापार के लिए कर्ज लेना हो और आपके पास खेती की जमीन हो तो बैंक जमीन गिरवी रखकर आपको कर्ज दे सकता है उसके लिए बैंक में आपको खतौनी देनी होती है क्योंकि खतौनी एक भूमि अभिलेख है, इसमें खसरा, नक्शा, किश्तबंदी आदि सभी चीजों का विवरण होता है।

आज के समय में आप खतौनी जैसी महत्वपूर्ण दस्तावेज ऑनलाइन माध्यम से भी बनवा सकते हैं अगर आपको ऑनलाइन माध्यम से बनवाना है तो हमारी वेबसाइट पर हमने इसकी जानकारी दी है आप पढ़ सकते हैं।

राजस्व विभाग के कार्यालय से भूलेख नकल कैसे प्राप्त कर सकते हैं

अगर आप राजस्व विभाग के कार्यालय से भूलेख नकल प्राप्त करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ चरणों को ध्यान पूर्वक फॉलो करना होगा हमने इसकी जानकारी नीचे सूचियों में दी है कृपया ध्यानपूर्वक पढ़ें:

  • सबसे पहले आप अपने तहसील या ब्लॉक या जनपद के राजस्व कार्यालय में जाइए
  • अब आपको जो भी भूलेख से संबंधित रिकॉर्ड में चाहिए उसका आवेदन तैयार कर ले
  • अब आप आवेदन करते समय अपना नाम और जिस जमीन का भूलेख नकल आपको चाहिए उसका पूरा ब्यौरा दे
  • जब आपका आवेदन पूरी तरह से तैयार हो जाए तो संबंधित अधिकारी के पास जमा करा दें
  • आवेदन जमा करने के बाद भूलेख विभाग द्वारा निर्धारित समय सीमा में आपको भूले की कॉपी दे दी जाएगी

खसरा, खाता नंबर, खेवट और खतौनी ऑनलाइन कैसे प्राप्त करें

तो दोस्तों हम आपको यह बताना चाहेंगे कि आज के जमाने में ऑनलाइन और डिजिटल बहुत ही आम हो चुका है हर इंसान के पास मोबाइल है और वह इंटरनेट से जुड़ा हुआ है। इसलिए ही भारत सरकार ने भूलेख नाम से एक पोर्टल जारी किया है जिसके जरिए आप भूमि से जुड़ी संपूर्ण दस्तावेज ऑनलाइन माध्यम से बनवा सकते हैं। अगर आपको खसरा बनवाना हो, या किसी भी तरह का दस्तावेज बनवाना हो अपनी भूमि के लिए तो आप ऑनलाइन माध्यम से भी बनवा सकते हैं। Bhulekh

ऑनलाइन माध्यम से बनवाने के बहुत सारे फायदे हैं एक तो आपको किसी को पैसे देने की जरूरत नहीं होती है आप घर बैठे दस्तावेज बनवा सकते हैं और डाउनलोड भी कर सकते हैं। आपका समय और पैसा दोनों की बचत हो जाएगी। आप किसी भी समय अपने दस्तावेज को बनवा पाएंगे। कैसे बनवाना है इसकी जानकारी हमने अपनी वेबसाइट पर दी है कृपया हमारी वेबसाइट को ध्यानपूर्वक पढ़ें हमारी वेबसाइट का किसी भी सरकारी कर्मचारी है सरकारी संस्थान से लेना देना नहीं है हमारा उद्देश्य है कि आपको हम अच्छे से अच्छा ज्ञान दें ताकि आपकी समस्याओं को दूर किया जा सके।

आप चाहे तो ऑनलाइन माध्यम से कुछ ही मिनटों में खसरा खतौनी प्राप्त कर सकते हैं इसके लिए आपको किसी भी पटवारी या काश्तकार के पास जाने की जरूरत नहीं है। ना ही कोई भ्रष्टाचार हो सकेगा पहले पटवारी और अन्य कर्मचारियों को घूस देनी होती है थी ऐसी चीजों को बनवाने के लिए लेकिन अब यह सब बंद हो जाएगा।

हर राज्य द्वारा ऑनलाइन पोर्टल बनवाए गए हैं अगर आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं तो आप चाहे तो उत्तर प्रदेश भूलेख की वेबसाइट पर जा सकते हैं वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।

अब आपसे इस वेबसाइट पर कुछ जानकारी ली जाएगी जैसे कि जिले का नाम, तहसील का नाम, ब्लॉक का नाम, आपका गांव कौन सा है यह सब जानकारी देने के बाद आप अपने क्षेत्र के खसरा खतौनी की संपूर्ण जानकारी देख पाएंगे और डाउनलोड भी कर पाएंगे।

Bhulekh संपूर्ण जानकारी हमने इस वेबसाइट पर दे रखी है आप हमारी वेबसाइट को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

अगर आपको यह जानकारी किसी भी तरह से संतुष्ट कर पाई हो तो हम चाहेंगे आप इसको शेयर जरूर करें ताकि लोगों तक ज्ञान पहुंच सके। आप बहुत चीजें Bhulekh इस वेबसाइट से जान सकते हैं यह एक ब्लॉग है हमारा किसी भी सरकारी कर्मचारी है सरकारी संस्थान से कोई लेना देना नहीं है हमारा उद्देश्य है कि आप को ज्ञान की बातें समझा सके ताकि आपको कोई लूटना सकें और आपका समय भी बर्बाद ना हो पाए।

  • अगर आपको प्रमाण पत्र बनवाने हैं तो उसकी जानकारी आपको यहां मिलेगी : Edistrict UP
  • आधार कार्ड के विषय में संपूर्ण जानकारी आपको यहां मिलेगी : Aadhar Download
  • सरकारी योजनाओं की संपूर्ण जानकारी आपको यहां मिलेगी : Sarkari Yojana
  • हिंदी दिवस के उपलक्ष में आपके लिए कुछ कमाल की चीज़ है : Hindi Diwas